Sunday, April 2, 2017

The solution to all the problems in your mind!

This is the most important thing to assess which we think, because after we have been evaluated, we can understand what the real problem is. Our negative thinking becomes the cause of the problem,
With some of these issues, we can look forward to positivity.

1. Choosing the right words ...
                                        I can not do it, I will not be able to, I can not bring a number, like this, instead of I can do it, I can try to bring number one. With this change of mind, we get a new hope, and we can achieve success in our work.

2. Make your own way.
                                         Whenever any thoughts disturb us, then we would have solved others (though it is a good thing to help others and help us from it). But sometimes we can get help from others. Therefore, if you have any thoughts, then ask yourself, 'What is the right solution on it' (We have more problems than others, we know ourselves better than others, so we can solve our problems properly. Hey).

3. Lessons from mistakes / incidents ...
                                       Many times, the problems, challenges, hardships, pleasures and sorrows in life, we get to learn a lot from them, the mistakes we have made in our past have made us feel better. (Keeping in mind the mistakes made by us, do not repeat those mistakes again, pay attention to it.) In the past, we should go ahead and take our mistakes and learn from them.

4. Accepting every challenge ...
                                     Know the hidden cars in negativity and look at it! Sometimes we may be right or wrong too. Therefore, when you solve the solution of any thing, think about the consequences of what will be right for him.
                                    Behind the negativity, leave behind the positivity!
Thank you for reading this post! If you like this information, please follow it and share it.
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.
Https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw

World's richest village

All the facilities needed in the country's Waxi village of Jiangsu state of China are therefore one of the richest villages in the world. Every resident of this village own home, car and good money. There is a lot of companies in this village, and here too there is a large scale farming with modern technology
In the year 2015, every person in this village had an average annual income of around Rs 90 lakh. After this village was very poor in 1955, the village was changed by the Communist Party's local secretary, Wu Renabao, by making them a prosperous plan and bringing many industries to the village gradually and this village started to grow. Renabao organized a company, promoting community farming. Every man in this village became a shareholder in the 1990s.
Currently, more than 65 factories in this village and more than sixty lakh rupees are deposited in the account of every person in S Gaon. In most of this village, most of the house is one house, every house is 10-10 rooms. This is 80 In exchange for a tax, luxury facilities like villa, car, excursion, dinner at Star Hotel and dinner are available free of charge.

Thank you for reading this post!
 If you like this information, please follow it and share it.
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.
Https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw


Thanks!

What is the truth of Valentine's Day!

Since 1300 years ago, people living in Europe lived in Live in Relation without having married without having been married; Such was the understanding in the European society that sexual intercourse is the ultimate pleasure of life; therefore, not married in Europe.
He lived with him in his relationship. In Europe, women were considered to be a sex object until the first woman got pleasure from her, after she became concerned with the second woman, after that the third - fourth - .. In Europe, the child is the father of her The information was not known because the child's mother did not even know who would be the child, so the family could not become in Europe. This tradition was going on for many years .This resulted in the fact that no one could have sex with anybody / many people. The result was that the people got confused with sexually transmitted diseases, in order to prevent this, many such people tried to stop them. Wanted to live in this way, it is not a good thing to have sexual intercourse like living beings, and this should be closed, but the same society did not let those people alive.


                        Then a great gentleman called a valentine explained to the people that this is not a good thing. They should stay together and pray, make a family, whatever they say in their contact and explain it to them. Then the people told him what this marriage is, what the family is, what has gone into your mind, they have brought it up, saying that there is no such thing in Europe. So he said to the people that nowadays studying Indian Philosophy. And I think that his lifestyle is absolutely good and he will be good for us too. After hearing this talk, some people started accepting them again. Those who agreed to get married, who gave their marriage to the church, in this way, they introduced many people to Shadiya. Seeing all this, Claudius, King of Europe, who was a great king of that time and was very cruel, said that those valentines are spoiling the traditions of our Europe, we are the people who are celebrating and engaged in marriage Then he ordered to catch him immediately, after bringing the catch, Claudius asked, "What are you doing here?" Vellantine said that I think this is right, we should do this, then King Claudius did not listen to him and ordered him to be hanged.
                      Min Valentin was hanged on 14 February 498. Min Vellantine was hanged on this day, so his supporters, whose Shadia Mi He started making Valentine's Day on Valentine's Day on 14th February. And those who marry in Europe since then, they make Valentine's Day. Valentines Day married people in Europe. Valentine was celebrated in the memory of him, but with the different meaning of Valentine's Day, gradually the Valentines Day was celebrated in many countries.

Thank you for reading this post!
 If you found this information was well please make it share Like behalf. Click this button to follow this blog and join us freely, whenever we post any new information, you will get a notification immediately.
even you can easily connect with us using email.
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.

Thanks!

The spinach's vegetable will tell where the bomb is kept (explosive)

American scientists have discovered this from their research, that the spinach plant can work as a censor and can provide information about the explosive kept hidden in a few hours.
With the addition of carbon nano-tubes to spinach leaves, nitro aromatics can easily be explored.
Most explosions use nitro aromatics. The chemicals contained in nitro aromatics are found in ground water, from the same it reaches the spinach. After that, the spinach leaves tied to carbon nano-tubes come as close to the explosive material, their colour changes and this process can be seen with the help of infrared camera.
     This information came out in the amendment to the guidance of American Professor Michael Strano (Institute of Technology).

Thank you for reading this post!
 If you found this information was well please make it share Like behalf. Click this button to follow this blog and join us freely, whenever we post any new information, you will get a notification immediately.
even you can easily connect with us using email.
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.

Thanks!

why bell is played in the temples !!

By the way, there are different types of beliefs about the bell played in the temple. But, according to the belief that by playing the bell, consciousness is awakened in the idols of gods and goddesses set up in the temple, the result of this is that whatever worship we worship is more rewarding and effective.
The sound that is produced by playing a bell is very easy to get rid of. The sound of the hour raises the heart and the mind to spirituality and spirituality and helps to go. Our mind experiences peace by connecting with the bell of the bell. Along with this, according to many beliefs, the sin of many births of a human being is deterred by playing bell. Whenever the bells are played with the rhythm and special melodies of the temple, then those present there realise the presence of peace and divine power. The third reason, when the universe started, then the sound that sounded like a sound, according to the belief, the same voice arises even after playing the bell. This bell is considered to be the symbol of the same sounds.

Thank you for reading this post!
 If you found this information was well please make it share Like behalf. Click this button to follow this blog and join us freely, whenever we post any new information, you will get a notification immediately.
even you can connect with us using your email .
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.
Thanks!

During World War II the cat had spied !

This post is based on a true event.
When World War II was going on, Germany was heavily burdened with the British army trying to keep its activities secret, so that the Germans could not even know about their strategies. In spite of strict secrecy, the next day the German fighter aircraft used to attack and attack the place, after all, the British could not know how the enemy got information. One day Britain's Prime Minister Mr. Churchill telephoned all the ministers and called for a secret meeting. After the message was received, all the ministers reached the floating place. It was an emergency meeting, so the privacy of all the ministers was completely sealed. Just before the meeting starts Churchill talked to all the ministers saying that the hard work of our intelligence department has not been able to find out what about the news of the German's about our confidential meeting. This emergency meeting was called to discuss the problem. All the ministers were giving their opinion when suddenly a fat cat came in the room and sat down in the chair of Mr. Churchill. They kept on touching that cat with great love during the conversation. As soon as Mr. Churchill stopped speaking and another minister started speaking, the cat got up and went to sit in the lap of that minister and in this way all the cats sat in the lap of the cat.
                 The next morning when Mr Churchill started the radio, he was stunned by the full description of his emergency meeting via Radio Berlin. In the emergency meeting, no one other than his cabinet and any other member of the family was present even in the event of suspicion, then on whom and on which nobody Everyone was suspicious that no detective came in the form of soldiers as a transmitter or microphone in the walls or in the nearby premises, through which all the secret information of the meeting goes out! To confirm this, the entire premises of the meeting place was completely broken and reconstructed to check the building so far, but no reason for the detective could not be found. And that important decisions were taken in that meeting, Germany got the information and all the schemes failed. Again m Churchill felt that a minister from his own council of ministers has got from Germany, so he changed his ministry. But still there was no restriction on going out of important information.

 One day Mr. Churchill's house was sitting on a very important meeting on this subject, and suddenly suddenly he got a big cat and went to sit in the lap of every single person who was sitting. When the cat was sitting in the lap of a member, the member suddenly said that this cat is not a detective? He soon turned his hand on the whole body of the cats. As soon as he turned his hand, his hand went to the cat's stomach and he realised that there is something in the shape of a button in the cat's stomach and he suddenly screams, this cat is a detective. The cat was immediately handed over to the Intelligence for the investigation. When the cat was x-rayed, it was discovered that a powerful transmitter was fitted by the operation of the cat's stomach. Through this transmitter, the enemies knew all the confidential information.

Thank you for reading this post! 
If you want to get more interesting information about cats, please follow this page.
If you like this information please follow this page and click here.
If you found this information was well please make it share Like behalf. Click this button to follow this blog and join us freely, whenever you post any new information, you will get a notification immediately.
For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.

Saturday, April 1, 2017

E-Payments - Threat! Security ! Necessary steps! (Net Banking! Debit Card - Security)

E-Payments - Threat! Security ! Necessary steps! (Net Banking! Debit Card - Security)
All are well aware that the internet has become a necessity for everyone now. The emphasis is on cashless economy not only in India but in the world. Therefore, people have relied on online transaction and e-wallets. But not everyone knows what precautions should be taken while making e-payments.

So let's see what these precautions are -


1. Safe Browsers - Use only secure and reliable browsers to do any ePayment or Transaction. Like - Google Chrome, Internet Explorer, Mozilla Firefox etc.
Download Mozilla Firefox here -https://www.mozilla.org/en-US/firefox/new/
Download Google Chrome here - https://www.google.com/chrome/browser/desktop/
Download Internet Explorer here - https://www.microsoft.com/en-in/download/internet-explorer.aspx

2. Before making an online payment, make sure that your address link is secure (if you are using Google Chrome browser then it is visible in this photo

This should be the green color of https: // which is called the protocol which is before it and before that lock. Or if you use another browser then it should be seen in the same way that protocol, or in this way
Safe name should appear. If the lock is completely closed and the protocol is visible in green then it is safe.

But if the protocol is something like red in something like this

If it appears, it is not safe at all, if any protocols are seen in this way, or when doing any important work, then do not process any further process and stop the browser immediately. And re-open the browser and try again.


3. Before making any online payments before www. Do not forget to pour it

4. Whenever you log in to the website then in the window frame like this


The padlock symbol should be visible.

If Paddock Symbol is like this
If it appears to be open in red or lock, then it is not safe.


5. When sending money to anyone, use the secure payment site, during this, definitely check the website privacy policy.
* Before confirming the payment, be sure to re-enter all the information you have inserted. (Take out the screen shot)

6. You must save the receipt of whatever transactions you are doing. (Print out)

7. Keep checking your bank statement regularly.

8. Most importantly, before doing anything online, anti-virus must be updated before working.



Your special advice to us is that you will be able to make payments by credit card or debit card in online payments, because whenever you have a transaction through a credit card or debit card, you will get a one-time Password comes to your register mobile (this will not be any transaction of burger one time password) and you do not enter a one time password. BTC can not be any fraud.

We hope this information you Jrurhi will get well.
If you like this information please follow this page.
Thank you for reading this post! 
If you found this information was well please make it share Like behalf. Click this button to follow this blog and join us freely, whenever you post any new information, you will get a notification immediately.
O you can connect on free us even by Jriye subscribe to e-mail.


For more information, you can join our Youtube Channel Knowledge The Source of power after clicking on the Subscriptions button by clicking on the link below, which is absolutely free.
Https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw

ई-पेमेंट्स -- खतरा ! सुरक्षा ! जरुरी कदम ! ( नेट बैंकिंग ! डेबिट कार्ड - सुरक्षा )

ई-पेमेंट्स -- खतरा ! सुरक्षा ! जरुरी कदम ! ( नेट बैंकिंग ! डेबिट कार्ड - सुरक्षा )
E-Payments - Threat! Security ! Necessary steps! (Net Banking! Debit Card - Security)
सभी बखूबी जानते है के इन्टरनेट अब सभी की जरुरत बन चुका है।  भारत ही नहीं बल्कि पुरे विश्व में कैशलेश इकोनॉमी पर जोर दिया गया है।  जिसके चलते ऑनलाइन ट्रांसक्शन और ई- वॉलेट्स पर लोगों की निर्भरता लगी है।  लेकिन ई-पेमेंट्स करते वक्त कौनसी सावधानियां बरतनी चाहिए इसके बारे में हरकोई नहीं जानता। 
तो देखते है के वे सावधानियाँ कौनसी है - 


1 . सुरक्षित ब्रॉउज़र - कोई भी इ-पेमेंट या ट्रांजेक्शन करने के लिए सुरक्षित व्  विश्वसनीय ब्राउज़र का ही इस्तेमाल कीजिये।  जैसे की - गूगल क्रोम , इन्टरनेट एक्स्प्लोरर , मोज़िल्ला फ़ायरफ़ॉक्स इत्यादि। 
Download Mozilla Firefox here -https://www.mozilla.org/en-US/firefox/new/
Download Google Chrome here - https://www.google.com/chrome/browser/desktop/





2. ऑनलाइन पेमेंट  करने से पहले सुनिश्चित करले की आपका एड्रेस लिंक सुरक्षित है ( अगर आप गूगल क्रोम ब्राउसर का उपयोग कर रहे हे तो जीस तरह से इस फोटो में दिखाई दे रहा है 

याने https:// जिसे प्रोटोकॉल कहते है यह और उससे पहले वाला जो ताला है वो  हरे रंग का दिखाई देना चाहिए। या फिर अगर आप दूसरा कोई ब्राउज़र उपयोग करते है तो उसमे भी इसी तरह से जो प्रोटोकॉल है वो दिखाई देना चाहिए , या इस तरह से
secure नाम दिखाई देना चाहिए। ताला पूरी तरह से बंद और प्रोटोकॉल हरे रंग में दिखाई दे तो ये सुरक्षित है। 
लेकिन अगर प्रोटोकॉल लाल रंग में कुछ इस तरह से

दिखाई दे तो ये बिलकुल भी सुरक्षित नहीं होता , अगर कोई भी ट्रांजेक्शन करते वक्त या कोई भी महत्वपूर्ण कार्य करते वक्त प्रोटोकॉल इस  तरह से दिखाई दे तो आगे की कोई भी प्रोसेस न करे और ब्राउज़र को तुरंत बंद कर दे। और ब्राउज़र पुनः खोलके पुनः प्रयास करे। 


3. कोई भी ऑनलाइन पेमेंट्स करने से पहले वेब एड्रेस से पहले www. डालना न भूले। 



4. आप जब भी वेबसाइट में लॉग इन करेंगे तो विंडो फ्रेम में इस तरह से


पैडलॉक सिंबॉल दिखाई देना चाहिए। 
अगर पैडलॉक सिंबॉल इस तरह
से याने लाल रंग में या ताला खुला हुआ दिखाई दे तो वो सुरक्षित नहीं होता। 


5. किसी को भी पैसा भेजते वक्त सुरक्षित पेमेंट साइट का ही उपयोग करे , इसके दौरान वेबसाइट प्रायव्हसी पॉलिसी जरूर चेक करे। 

* पेमेंट कन्फर्म करने से पहले आपने डाली हुई सब जानकारी फिर से सुनिश्चित कर ले। ( स्क्रीन शॉट निकाल ले)


6.  आप जो भी कुछ ट्रांजेक्शन कर रहे हे उसकी रसीद जरूर सेव कर ले। ( प्रिंट कर ले )



7.  अपने बैंक स्टेटमेंट को नियमित रूप से चेक करते रहे। 



8.  सबसे जरुरी बात ऑनलाइन कुछ भी काम करने से पहले एंटी वायरस जरूर अपडेट कर ले। 



आप के लिए हमारी और से खास सलाह यह है की - ऑनलाइन पेमेंट्स में क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड द्वारा पेमेंट करना सुरक्षित रहेगा , क्योंकि  जब भी क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड द्वारा कोई ट्रांजेक्शन होगा तब सुरक्षा के तहत आपको आपकी बैंक की तरफ से वन टाइम पासवर्ड आपके रजिस्टर मोबाइल पे आता है ( याने बगेर वन टाइम पासवर्ड के कोई भी ट्रांजेक्शन नहीं होगा ) और जब तक आप वन टाइम पासवर्ड नहीं डालते तबतक कोई भी फ्रॉड नहीं हो सकता। 



हम आशा करते है के यह जानकारी आपको जरूरहि अच्छी लगी होगी।
अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इस पेज को फॉलो>लाईक  करे। 
इस पोस्ट को पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.


अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.

Saturday, March 18, 2017

दूसरे महायुद्ध के दौरान बिल्ली ने की थी जासूसी

नमष्कार !
दूसरे महायुद्ध के दौरान बिल्ली ने की थी जासूसी 

                  यह पोस्ट एक सच्ची घटना पर आधारित है।  जब दूसरा विश्व युद्ध चल रहा था तब जर्मनी सब पे भारी पड़ रहा था अंग्रेज सेना अपनी प्रत्येक गतिविधियॉ गुप्त रखने की पूरी तरह कोशिश कर रही थी ताकि जर्मनियों को उनकी रणनीतियों के बारे में भनक भी ना लग सके ! कड़ी गुप्तता के बावजूत भी ऐसा हो जाता के अगलेही दिन जर्मनी के लड़ाकू विमान उस स्थान पर जाकर हमला  कर देते थे , आखिर अंग्रेजो को पता नहीं चल पा रहा था के दुश्मन को कैसे सूचना मिल जाती है।  एक दिन अचानक ब्रिटेन के प्रधान मंत्री मि. चर्चिल ने सभी मंत्रियो को टेलीफोन करके एक गुप्त बैठक के लिए बुलाया।  सन्देश  मिलाने के बाद सभी मंत्री तैर किए हुए स्थान पर पहुंचे।  यह एक आपातकालीन बैठक थी इसलिए सभी मंत्रियो को बुलाने में पूर्णतः से गोपनीयता बाराती गई थी।  बैठक शुरू होते ही मि. चर्चिल ने सभी मंत्रियो को कहत बोला के हमारी गुप्तचर विभाग की कड़ी मेहनत  बावजूत हम यह पता नहीं लगा पाए है के हमारी गोपनीय बैठक के बारे मई जर्मनियों को कैसे खबर लग जाती है  ? इसी समस्या पर विचार विमश करने के लिए यह आपातकालीन बैठक बुलाई गई थी।  सभी मंत्री अपनी अपनी राय दे रहे थे के तभी अचानक एक मोटी बिल्ली कमरे में आई  और मि.चर्चिल की गोद में जाकर बैठ गई।  वे बातचीत के दौरान बड़े  प्यार से उस बिल्ली को सहलाते रहे।  जैसे ही मि.चर्चिल बोलणा बंद  कर देते और कोई दूसरा मंत्री बोलना शुरू करता वो बिल्ली उठकर उस मंत्री के गोद में जाकर बैठ जाती इस तरह से सभी मंत्रियो के गोद में बैठकर बिल्ली चली गई।  
                 बैठक की अगली सुबह जब मि.चर्चिल ने रेडियो शुरू किया , तो रेडियो बर्लिन  के जरिये  अपनी उस आपातकालीन बैठक का पूरा विवरण सुनकर वे दंग रह गए।  आपातकालीन बैठक में उनके मंत्रिमंडल और विश्वासु सदस्यो के अलावा अन्य कोई भी यहाँ तक के परिवार का कोई व्यक्ति भी मौजूद नहीं था , आखिर शक किया भी जाय तो किसपर और किस बिनाह पर।   सभी को सन्देह हुआ के किसी गुप्तचर ने सिपाहियों के रूप में आकर दीवारों में या नजदीकी परिसर में कोई ट्रांसमीटर या माइक्रोफोन तो नहीं लगा दिया , जिसके माध्यम से बैठक की सारी गोपनीय जानकारी बाहर चली जाती है!  इस बात की पुष्टि करने के लिए बैठक की जगह का पूरा परिसर यहाँ तक के इमारत को जांचने के लिए पूरी तरह तोड़ गया और फिर से बनवाया गया पर जासूसी का कोई भी कारण नहीं मिल सका।  और उस बैठक में जो भी महत्वपूर्ण फैसले लिए गए उनकी जानकारी जर्मनी को मिल गई और सभी योजनाए असफल हो गई। फिर  मि. चर्चिल को ऐसा लगा के  उनके ही मंत्री मंडल का कोई मंत्री जर्मनी से मिल गया है , इसलिए उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में  परिवतर्न किया।  लेकिन फिर भी महत्वपूर्ण सूचना बाहर जाने को कोई रोक नहीं मिल रही थी।
 एक दिन मि.चर्चिल के कोठी पर इसी विषय पर अति महत्वपूर्ण बैठक चल रही थी के तभी अचानक से वो मोटी बिल्ली आई और बोलने वाले हर एक  व्यक्ति के गोद में जा जाकर बैठने लगी।  बिल्ली जब एक सदस्य के गोद में जाकर बैठी तो उस सदस्य को अचानक से खटका के कही ये बिल्ली तो जासूस नहीं है ? उन्होंने जल्द ही बिल्ली के पुरे शरीर को निहार ते हुए अपना हाथ फिराया। हाथ फेरते हुए अचानक उनका हाथ बिल्ली के पेट पर गया और उनको बिल्ली के पेट में कोई बटन के आकार की कोई चीज है ऐसा एहसास हुआ और वो अचानक चिल्लाए के यह बिल्ली ही जासूस है।  बिल्ली को तुरंत ही जांच के लिए  इन्टेलिजैन्स को सौपा गया।  जब बिल्ली का एक्सरे किया गया तो यह पता चला के बिल्लीके पेट में ऑपरेशन करके एक शक्तिशाली ट्रांसमीटर फिट कर दिया गया था।  इसी ट्रांसमीटर के जरिए दुश्मनो को सारी गोपनीय बाते पता चल जाती थी। 

हम आशा करते है के यह जानकारी आपको जरूरहि अच्छी लगी होगी।
अगर आप बिल्लियों के बारे में और रोचक जानकारी पाना चाहते है तो प्लीज इस पेज को फॉलो करे। 
अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इस पेज को फॉलो>लाईक  करे। 
इस पोस्ट को पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.



धन्यवाद !

Friday, March 10, 2017

शरीर के लिए प्रतिदिन कितनी शुगर आवश्यक है ! How much sugar is required daily for the body!

नमश्कार !
शरीर के लिए प्रतिदिन कितनी शुगर आवश्यक है !
How much sugar is required daily for the body!



               हमें भोजन एवं अन्य आहार से शुगर प्राप्त होती है ! शरीर हमेशा स्वस्थ तथा क्रियाशील रखने के लिए शुगर उर्जा प्रदान कराती है. किसी भी व्यक्ति को प्रतिदिन कितनी मात्रामे शुगर लेनी चाहिए ! चाहे वो शुगर का स्रोत कोनसा भी हो . आहार विशेषज्ञों के अनुसार व्यक्ति को अपने स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन लगभग 4 से 5 ग्राम शुगर प्रयोग करना चाहिए ! लेकिन व्यक्ति के हरदिन के कार्यशैली के अनुसार( कुछ लोग दिन भर मजदूरी करते है तो कुछ लोग एक जगह पर बैठकर काम करते है तो दोनों को जो उर्जा की आवश्यकता है वो कम अधिक लग सकती है )  शुगर की आवश्यकता सामान्य से अधीक मात्रा लग सकती है .

स पोस्ट को पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.



धन्यवाद !

Tuesday, February 21, 2017

आखिर मंदिर में क्यों बजाई जाती है घंटा ( घंटी )

 नमश्कार !
आखिर मंदिर में क्यों बजाई जाती है घंटा ( घंटी )

                      वैसे तो मंदिर में बजाई जाने वाली घंटी के बारे में अलग-अलग तरह की मान्यताए है।  लेकिन सबसे महत्वपूर्ण जो मान्यता हे उसके अनुसार घंटी/ घंटा बजाने से मंदिर में स्थापित किए हुए देवी-देवताओं की मूर्तियों में चेतना जागृत होती हे इसका परिणाम यह होता हे के हम जो भी कुछ पूजा , आराधना करते हे वे ज्यादा फलदायक और प्रभावशाली होती है. 
                    घंटी बजाने से जो ध्वनि निर्माण होती हे बेहत सुकून दायी होती हे. घंटे की ध्वनि दिल और दिमाग को अध्यात्म का भाव जगाते हुए अध्यात्म की और जाने के लिए मदत कराती हे. हमारा मन घंटी की लय से जुड़कर शांति का अनुभव करता हे।  इसके साथ ही कई मान्यताओ के अनुसार  घंटी बजाने से इंसान के कई जन्मो के पाप धूल जाते है. जब भी मंदिर मे लय और विशेष धुन के साथ घंटिया बजाई जाती हैं , तब वहां  मौजूद  लोगों को शांति और दैवीय  शक्ति की उपस्थिति  का एहसास  होता है. तीसरी  वजह, जब सृष्टि  का प्रारंभ  हुआ, तब जो एक  नाद  यानी  आवाज गुंजायमान हुई थी, मान्यताओ के अनुसार वही आवाज घंटी बजाने पर भी पैदा होती है. इसिलीए घंटी उसी आदि नाद  की प्रतीक  मानी जाती है.

इस पोस्ट को पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.

धन्यवाद !

Saturday, February 18, 2017

पालक कि सब्जी बाताएगी कहा छीपाकर रखा हे बम ( विस्फोटक )

नमश्कार !
                  अमेरिका के वैज्ञानिको ने  अपनी संशोदन से ये खोज निकाला हे , के पालक का पौधा सेंसर के रूप में काम कर सकता हे और कहि पर छिपाकर रखे विस्फोटक के बारे में कुछ ही अवधि में जानकारी दे सकता हे।

 पालक की पत्तियो को कार्बन नैनोट्यूब के साथ लेकर नाइट्रो एरोमैटिक्स की आसानी से तलाश हो सकती है.  
ज्यादातर विस्फोटों में  नाइट्रो एरोमैटिक्स ही उपयोग किया जाता हे।  नाइट्रो एरोमैटिक्स में शुमार होने वाला रसायन जमीनी पानी में पाया जाता हे , उसी से यह पालक में पहुँच जाता हे।  उसके बाद कार्बन नैनोट्यूब से बंधी हुई पालक की पत्तियां जैसे ही विस्फोटक पदार्थ के नजदीक आती है , उनका रंग बदल जाता है और यह जो प्रक्रिया हे वह इंफ्रारेड कैमरे की मदत से देखि जा सकती हे। 
     यह जानकारी अमेरिका के प्रोफ़ेसर माइकल स्ट्रानो ( इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नॉलॉजी ) इनके निर्देशन में हुए संशोधन में सामने आई है. 

इस पोस्ट को पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
यहां तक कि आप ईमेल का उपयोग करके भी आसानी से हमारे साथ जुड़ सकते हैं
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.

धन्यवाद !

Tuesday, February 14, 2017

आखिर क्या हे वेलेण्टाइन डे की सच्चाई !

                         आज से करीबन 13 सो साल पहले से यूरोप में वहा के लोग लिव्ह इन रिलेशन में रहते थे याने के बिना शादी किये हुए साथ रहते थे , यूरोपीय समाज में ऐसी समझ थी के शारीरिक सम्भोग ही जिंदगी का परम आनंद हे , इसलिए यूरोप में शादी न करके ही याने के लिव्ह इन रिलेशन में साथ रहते थे . यूरोप में स्त्रियों को एक सेक्स ऑब्जेक्ट समझा जाता था जब तक पहले स्त्री से आनन्द मिलता हे तबतक उससे संबंध बनाके बाद में दूसरी स्त्री के साथ रहा जाता था उसके बाद तीसरी - चौथी - .. यूरोप में बच्चे को उसके पिता कोण हे इसके बारे में जानकारी नहीं होती थी क्योंकि बच्चे के माँ को ही पता नहीं होता था के वे बच्चा किसका होगा इसलिए यूरोप में परिवार नहीं बन पाते थे . यह परम्परा कई सालो से चली आ रही थी .याने कोई भी किसिसेभी/ कितनो से भी  सेक्स कर लेता  इसका परिणाम यह हुआ के लोगो को  सेक्स जनित रोगों ने जकड लिया , इसे रोकने के लिए बिच बिच में कई ऐसे लोगो ने प्रयत्न किया के वे चाहते थे के इस तरह से रहना ,प्राणियों की तरह सम्भोग करना यह अच्छी बात नहीं हे ओर यह बंद होना चाहिए  लेकिन उसी समाज ने उन लोगो को ज़िंदा नहीं रहने दिया .

                        फिर एक  वेलेण्टाइन नामक महापुरुष ने लोगो को समझाया के ये सब अच्छी बात नहीं हे .शादी करके साथ रहना चाहिए , परिवार बनाना चाहिए उनके संपर्क में जो भी आता उससे वो यही कहते और उसे समझाते . फिर लोगो ने उससे कहा के ये शादी क्या हे , परिवार क्या हे, ये तुम्हारे दिमाग में क्या घुस गया हे , ये कहा से उठाके लाए हो ऐसा तो यूरोप में कही नहीं हे . तो उन्होंने लोगो से कहा के में आजकल भारतीय फिलोसोपी का अध्ययन कर रहा हु.और मुझे लगता हे की उनकी जीवनशैली बिलकुल अच्छी हे ओउर यही हमारे लिए भी अच्छी रहेगी. उनिकी यह बाते सुनकर कुछ लोग उन्हें मानने लगे फिर  मि. वेलेण्टाइन  जो भी शादी के लिए राजी हो जाते उनकी शादी चर्च में करा देते , इस तरह से उन्होंने कई लोगो की शादिया कराई . यह सब देख उस वक्त के यूरोप के राजा क्लौडीयस जो वहा का बड़ा राजा था ओर बहत क्रूर था उसने कहा के ये जो  वेलेण्टाइन हे ये हमारे यूरोप की परम्परा को बिगाड़ रहा हे हम मौज करने वाले लोग हे और ये सबकी शादिया करने में लगा हे तो उसने तुरंत उसे पकड़ने का आदेश दिया ,पकडके लाने के बाद उससे क्लौडीयस ने पूछा के ये तुम क्या कर रहे हो हमारे देश में अधर्म फेहला रहे हो तो मि. वेलेण्टाइन ने कहा के मुझे यही सही लगता हे हमें यही करना चाहिए तो राजा क्लौडीयस ने उसकी एक नहीं सुनी और उसे फांसी के सजा का आदेश दे दिया . 
                      मि. वेलेण्टाइन इन्हें  14 फरवरी 498 को फांसी हो गयी . मि. वेलेण्टाइन को इस दिन फांसी हुई इसलिए उनके जो समर्थक थे जिनकी शादिया मि. वेलेण्टाइन इन्होने करवाई थी उन्होंने 14 फरवरी यह दिन वेलेण्टाइन डे बनाना शुरू कर दिया . और तबसे यूरोप में जो भी शादी करते हे वे वेलेण्टाइन डे बनाते हे .वेलेण्टाइन डे शादी शुदा लोग यूरोप में मि. वेलेण्टाइन इनकी याद में मनाया जाता हे , लेकिन वेलेण्टाइन डे के अलग अलग अर्थ लगा कर धीरे धीरे वेलेण्टाइन डे कई देशो में मनाया जाने लगा .


यह पोस्ट पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.
https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw
धन्यवाद !
                           

Monday, February 13, 2017

देश का पहला डिजिटल गांव बना गुजरात राज्य का अकोदरा

                   भारत देश मे गुजरात का अकोदरा गाव देश का पहला डिजिटल गाव बना. देश के बडे शहरो को पिछे छोड यह गाव कैशलेस इकोनॉमि पर चलणे वाला पहला गाव बन गया है.इस गाव के सभी लोग अपनी जरुरत कि चीजो कि खरीददारी डेबिट कार्ड , इंटरनेट बँकिंग, मोबाईल बँकिंग का इस्तेमाल करते हुए कर रहे है .
अकोदरा गाव के ICICI बैंक के ड्रीम प्रोजेक्ट के चलते इस गाव को डिजिटल ओर कैशलेस सिस्टम लागू करणे मे बैंक ने बडी भूमिका निभाई हे . इस गाव को एनिमल हॉस्टल से भी संबोधा जा चुका हे क्योंकी कृषी और पशुपालन इस गाव का मुख्य व्यवसाय हे . यह गाव अहमदाबाद से लगभग 90/93 किलोमीटर कि दुरी पर हे.गाव मे 200 घर ओर लगभग 1200 इतनी लोकसंख्या हे.  

यह पोस्ट पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर करे . इस ब्लॉग को follow के बटन पे क्लिक करके हमसे फ्री मे जुड जाए जीससे हम जब भी कोई नई जानकारी पोस्ट करेंगे तो आपको तुरंत notification मिल जाएगी .
आप ई मेल के जरीये subscribe करके भी हमसे फ्री मे जुड सकते हे.
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.
https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw
धन्यवाद !

Sunday, February 12, 2017

आपही के दिमाग मे हे सभी समस्या का हल !

हम जो भी विचार करते हे उसका आकलन होणा यहि सबसे मेहत्वपूर्ण बात है क्योंकी विचारो का आकलन होनेके बाद हि हम समझ सकते हे कि असल समस्या क्या है . हमारी नकारात्मक सोच हि समस्या का कारण बन जाती हे ,
इन कूछ मुद्दो से हम सकारात्मकता कि ओर पेहल कर सकते हे..

१. सही शब्दो का चुनाव..
                                        मे इसे नहि कर सकता , मुझसे नही होगा , मे एक नंबर नहि ला सकता इस जैसे वाक्यो कि बजाय मे कर सकता हु , मुझसे हो सकता हे , मे नंबर एक लाने कि कोशिश कर सकता हू . इस तऱह  से सोच बदलसे खुद को एक नई उम्मीद मिलती हे ओर हम अपने कार्य मे सफलता हासील कर सकते हे.

२. अपना रास्ता खुद बनाए ..
                                         हमे जब भी कोई विचार परेशान करता हे तो हम दुसरो से हल पुछते हे ( हालाकी दुसरो से मदत लेना अछी बात हे ओर उससे हमे मदत मिलती हे) लेकीन कई बार दुसरो से मदत लेके हम मुसिबत मे आ जाते हे . इसलिये जाब भी कोई विचार परेशान करे तो स्वयं से पुछे कि इसके उपर सही हल क्या हे ( हमारी जो भी कुछ परेशानी होती हे उसके बारे दुसरो से ज्यादा हम खुद अच्छी तरह से जानते हे इसलिये हमारी परेशानी का हल हम खुद अच्छी तरह से निकाल सकते हे ).

३. गलतिया / घटनाओं  से सबक...
                                       कई बार जीवन मे जो समस्या ,चुनौती , कठीनाई ,सुख - दुख आते हे इनसे  मे हमे बहुत कुछ  सिखने को मिलता हे , हमारे भूतकाल मे  हमसे हुई गलतिया हमे बेहत अहेसास दिलाती हे . ( गलतियो को ध्यान मे रखते हुए हमसे वे गलतिया फिर से न दोहराई जाये इसके उपर ध्यान दे.) भूतकाल मे घटीत घएनाए तथा हमारी कि हुई गलतिया इनसे सिख लेते हुये हमे आगे बढना चाहिये .

४.हर चुनौती का स्वीकार ...
                                     नकारात्मकता मे छुपे कारनो को जान ले ओर उसपे गौर करे ! कइ बार हम सही भी हो सकते हे या गलत भी .इसलिये किसीभी चीज का हल निकालाते समय उसके लिये सही क्या होगा उसके परिणाम इसके बारे मी सोच ले.
                                    नकारात्मकता को पीछे छोड सकारात्मकता कि ओर पेहल करे !
यह पोस्ट पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर,फॉलो करे .
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.
https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw
धन्यवाद !

                                

दुनिया का सब से अमीर गांव

हमारे देश मे गावो कि जो स्थिती हे वो पुरा देश जाणता हे , कई नेता किसानो कि मदत के दावे तो करते हे लेकीन सिर्फ चुनाव जितने के लिये .किसानो के लिये कई सरकारी योजनाए भी बनाई जाती हे लेकीन योजना के नाम पर जो कूच भी पैसा स्वीकृत होता हे वो नेता ओर अधिकारीयो के जेब मे चला जाता हे . किसान को सिर्फ योजना ओ के नाम के सिवा शाआयाद हि कूच मिल पाता हे.
              हमारे पुरे देश मे शायद हि ऐसा कोई गाव होगा जहा जरुरत कि सभी सुविधा होगी ओर हर व्यक्ती चैन से रहता हो . लेकीन देश चीन के जियांग्सू राज्य के वाक्शी गांव में जरुरत कि सभी सुविधाएं हे इसलिये ए गाव दुनिया के सब से अमीर गावो मे से एक हे.  इस गाव के हर रहिवासी के पास खुद का घर हे , कार हे ओर अच्छा खासा पैसा हे . इस गाव मे बेहत सारी कंपनिया है , ओर यहा पर आधुनिक तकनीक से बडे पैमाने पर खेती भी होती हे. 
                  सन 2015 मे इस गाव के हर आदमी कि सालाना औसत आय करीबन 90 लाख रुपये थी. सन 1955 मे यह गाव बेहत गरीब था उसके बाद इस गाव को कम्युनिस्ट पार्टी के स्थानीय सचिव वू रेनाबाओ इन्होने समृद्धी प्लान बनाके गाव मे कई तऱह के उद्योग लाकर धीरे धीरे बदल दिया और इस गाव कि तरक्की होणे लगी. रेनाबाओ ने सामुहिक खेती को बढावा देते हुए एक कंपनी का गठन किया .सन 1990 के दशक मे इस गाव का हर आदमी शेयरधारक बना .
               वर्तमान में इस गाव में करीबन 65 से ज्यादा फैक्टरिया हे ओर एस गाव के हर व्यक्ती के खाते में 60 लाख रुपये से ज्यादा रकम जमा हे.इस गाव में ज्यादातर घर एक जैसे हे ,हर एक घर मी 10-10 कमरे हे .याह 80% टैक्स के बदले मे लक्जरीयस विला ,कार,सैर करणे के लिये चौपर ,स्टार होटल मे डिनर जैसी सुविधाए मुफ्त मे मिलती हे .

यह पोस्ट पढने के लिये आपका धन्यवाद ! अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो प्लीज इसे लाईक ओर शेअर,फॉलो करे .
अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल ज्ञान The Source of power इसे नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके Subscribe के बटन पे क्लिक करणे के बाद जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री है.
धन्यवाद !

Saturday, February 11, 2017

                                                                 श्री गणेशाय नमः 
                  !! वक्रतुंड महाकाय सूर्यकोटी समाप्रभः निर्विघ्नं कुरुमेदेव सर्वकार्य सु सर्वदा !!
नमस्कार !
                 आप का स्वागत हे हमारे इस ( ज्ञान The Source of Power ) ब्लॉग मे . यह ब्लोग बनानेका उद्देश्य मात्र यह हे कि हम आपको इस ब्लॉग के माध्यम से हर वो जानकारी ( ज्ञान ) देणे कि कोशिश करेंगे जीस्से के आपको कुछ न कुछ लाभ हो.( ऐसी जानकारी जो आपको मालूम होनी जरुरी हो ).
     हमारां आपसे निवेदन हे के आप इस ब्लॉग से जुड जाए ! ताकी हम जब भी कोई नई जानकारी/ पोस्ट डाले आपको तुरंत उसके बारे मे जानकारी हो जाए .
            अधिक जानकारी के लिये आप हमारे Youtube चैनेल को Subscribe के बटन पे क्लिक करके जुड सकते हे जो बिलकुल फ्री हे.https://www.youtube.com/channel/UCxSg3NvQB_7QLn-IDNGpobw
            
           अगर आपके कोई सुझाव हो या आप कोई जानकारी चाहते हे तो हमे comment जरूर करे( या आप ई मेल भी कर सकते हे )
                                                          !!   धन्यवाद !!

Join Free

SAMSUNG MOBILE